Skip to main content

इंटरनेट का मालिक कौन है और इंटरनेट कैसे काम करता है ? Who is the owner of internet

आपने कभी ना कभी ये तो सोचा ही होगा जो इंटरनेट हम दिन रात इस्तेमाल करते है और जिसके लिए हम पैसे देते हैं उस इंटरनेट मालिक आखिर है कौन? इंटरनेट काम कैसे करता है ? अगर इंटरनेट का कोई मालिक है तो वो दुनिया का सब से अमीर आदमी क्यों नहीं है, क्योंकि उसका प्रॉडक्ट तो पूरी दुनिया इस्तेमाल कर रही है।

इंटरनेट क्या होता है और इंटरनेट कैसे काम करता है ?

दोस्तो हम इंटरनेट के मालिक के बारे में जाने उससे पहले हमे समझना होगा इंटरनेट आखिर है क्या और इंटरनेट काम कैसे करता है। तो चलिए थोड़ा सा बात करते हैं इंटरनेट के बारे में और जानते है इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता । 


मान लिजये आपके पास 2 कम्प्युटर है और आपने दोनों कम्प्युटर को किसी डाटा केबल से कनैक्ट कर दिया है और आप अपने एक कम्प्युटर से दूसरे कम्प्युटर का डाटा एक्सैस कर पाते हैं तो ये जो कनैक्शन बना आपके दोनों कम्प्युटर के बीच इसी कनैक्शन को कहते हैं इंटरनेट। इसमे आपका वो वाला कम्प्युटर जिसमे डाटा स्टोर है वो बन गया है सर्वर और वो कम्प्युटर जिससे आप डाटा एक्सैस कर रहे हैं वो है आपका डिवाइस। ये एक छोटा से उधारण है इंटरनेट का। अभी थोड़ा सा बड़े लेवेल पर सोचते हैं।  


मान लिजये आपका एक ऑफिस है उसमे कई सारे कोपुटर रखे हैं और सारा कम्प्युटर एक दूसरे से केबल के दुवारा कनेक्ट कर रखा है और ये सारे कम्प्युटर किसी केबल से या किसी वायर्लेस माद्धियम से आपके घर में रखे कम्प्युटर से कनेक्ट है और आप घर बैठे अपने ऑफिस में रखे किस भी कम्प्युटर का डाटा एक्सैस कर प रहे हैं तो ये भी एक पाकार का इंटरनेट है। तो अब आपको पता चल चुका है के इंटरनेट क्या होता है और इंटरनेट कैसे काम करता है, तो आईए अब जान लेते हैं इंटरनेट का मालिक कौन है ?

इंटरनेट का मालिक कौन है ?

अगर आप इस सवाल का जवाब ढूंढोगे के इंटरनेट का मालिक कौन है तो आपको दो टाइप जवाब मिलेंगे (1) कोई भी नहीं  (2) हर कोई जो इंटरनेट इस्तेमाल करता है। 


अब समझ लेते हैं इन दोनों जवाब का मतलब क्या है। जब बोला जाता है इंटरनेट का मालिक कोई भी नहीं है तो उसका ये मतलब होता है को कोई एक इंसान या कोई एक कंपनी इंटरनेट का मालिक नहीं है। इंटरनेट को बहुत सारी कोंपनियों ने और बहुत सारे लोगों ने मिल कर बनाया है। किसी एक के बस की बात नहीं है इतना बड़ा इंटरनेट बनाना। 

और जब ये कहा जाता है इंटरनेट का मालिक हर कोई है जो इंटरनेट इस्तेमाल कर रहा है तो उसका मतलब होता है कि कर वो लोग जो इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं वो इंटरनेट के किसी ना किसी हिस्से के मालिक हैं तो इस तरह से जो भी इंटरनेट इस्तेमाल करता है वो हर कोई इंटरनेट का मालिक है। उधारण के तोर पर मान लिजये आप आपने मोबाइल से इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका मोबाइल सर्वर से कनेक्ट है जिससे आप डाटा एक्सैस कर पा रहे हैं तो आपका जो मोबाइल है वो भी इंटरनेट का एक हिस्सा हो गया और इंटरनेट के उस हिस्से का मालिक आप हैं क्योकि मोबाइल आपका है। इसलिए कहा जाता है जो भी लोग इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं सब उसके मालिक हैं।

तो आब आपको समझ आ चुका है इंटरनेट का मालिक कौन है तो अब हम समझ लेते हैं इतने बड़ा इंटरनेट बना कैसे  जिसका को एक मालिक भी नहीं है और इसकी देखभाल कौन करता है ? जब ये खराब होता है तो ठीक कौन करता है ?  

इंटरनेट बना कैसे  और इंटरनेट बनाया किसने ?

मोटे तौर पर देखा जाए तो इंटरनेट को तीन तरह कि कोंपनियों ने मिल कर बनाया है।  बाकी तो हम सब ने मिल के इंटरनेट को बनाया है लिकिन जो इंटरनेट का बड़ा पार्ट है वो इन तीन तरह कि कोंपनियों ने मिल कर बनाया है।  चलिए अब जानते है इन तीनों तरह कि कोंपनियों के बारे मे एक एक कर के ।  


1) Tier 1 Internet providers: 

इन कंपनियों को इंटरनेट की रीड़ की हड्डी कहा जाता है। क्योंकि अगर ये कोंपनियाँ ना हो तो इंटरनेट का चलना मुसकिल है।  जिस तरह अगर सरीर में रीड़ की हड्डी ना हो तो सरीर ठीक से खड़ा नहीं रह सकता उसी तरह अगर Tier 1 Internet Providers ना हो तो ये इंटरनेट काम नहीं कर सकता क्योंकि इन्ही कोंपनियों ने समुंदर में मोटे मोटे केबल बिछा रखा है। ये केबल समुंदर में जाल कि तरह बिछे हुए है और यही केबल एक देश को दूसरे देश से कनेक्ट करता है जिससे आप तक कोई भी इन्फॉर्मेशन पोहुचता हैं सर्वर से या आपका कोई भी डाटा सर्वर तक जाता है।
अब आप ये जरूर जानना चाहते होगे ये Tier 1 कंपनी कौन कौन सी है और इसके नाम क्या हैं। अगर आप गूगल पर सर्च करोगे तो आपको Tier 1 कोंपनियों के नाम कि पूरी लिस्ट मिल जाएंगी लेकिन कुछ नाम मैं उधारण के तौर पर आपको बता देता हूँ। Tier 1 कोंपनियों के नाम कुछ इस परकार हैं - AT&T, CenturyLink, GTT Communications, Inc., Liberty Global, Tata Communications इत्यादी ।


2) Tier 2 Internet providers: 

ये वो कोंपनियाँ हैं जो नेशनल लेवेल पे काम करती है जैसे AIRTEL, IDEA, VODAFONE, JIO इत्यादि ।  ये कोंपनियाँ tier 1 कोंपनियों से इंटरनेट का एक्सैस खरीदती है और Tier 1 कोंपनियों को उसके लिए पैसा देती है। फिर उस इंटरनेट को आप लोगों तक अपने टावर के दुवारा वायर्लेस माद्धियम से आप तक इंटरनेट पाहुचती है और आप से बदले में पैसा लेती है। इंटरनेट मे इन कोंपनियों का यही योगदान है कि ये कोंपनियाँ पूरे देश मे टावर लगती है और वायर्लेस नेटवर्क बनती है और उसका मैंटेनेंस भी करती है।


3) Tier 3 Internet providers: 

ये वो कोंपनियाँ है जो लोकल लेवेल पे आपके इलाके मे आपको वाईफाई प्रोवाइड करती है। जैसे TIKONA, Hathway, Max इत्यादि । ये सारी वो कोंपनी है जो आपके मोहल्ले में आपको इंटरनेट और wifi प्रादन करती है और आपके इलाके मे अपना तारों का नेटवर बिछाती है । ये कोंपनियाँ Tier 2 कोंपनियों से इंटरनेट एक्सैस खरीदती है बल्क में जिससे इनको काफी सस्ता परता है इंटरनेट और ये फिर आपको थोड़े महंगे दामों आपको इंटरनेट बेचती है।

इसके बाद आते हैं हम लोग जो अपना अपना device खरीदते हैं और डाटा पैक लेते हैं और उसकी मदद से डाटा का इस्तेमाल करते हैं इंटरनेट एक्सैस करते हैं। इस तरह से इंटरनेट का पूरा चक्र चलता है। और इस तरह से आप समझ सकते हैं इंटरनेट का कोई एक मालिक नहीं है, बहुत सारी कोंपनियों ने और बहुत सारे
organisation ने मिल कर इंटरनेट बनाया है।

इंटरनेट पर किसी एक इंसान का इंफ्लुएंस नहीं है, हाँ उन कोपनाइयों का थोड़ा इंफ्लुएंस जरूर है जिनहोने
इंटरनेट के बड़े हीददे को बनाया है या उसपे पैसे लगाया है। इसके इलवा इंटरनेट पर हर देश कि सरकार का भी थोड़ा इंफ्लुएंस होता हैं क्योंकि अगर किसी भी कंपनी को किसी देश में काम करना है तो सरकार ने जो नियम बनाए हैं उनका पालन करना होता है। अगर कंपनी सरकार के बनाए नियम का पालन नहीं करेगी तो सरकार उसको पर्मिट नहीं देगी ओर उसको आपने देश में काम करने नहीं देगी तो इस तरह सरकार का भी थोड़ा इंफ्लुएंस होता है इंटरनेट पर और इसके इलवा इन सारी कोंपनियों को सरकार को TAX देना परता है अपने बिजनेस को
किसी भी देश में चलाने के लिए ।

तो ये था आज का आर्टिक्ल, इस आर्टिक्ल में जाना आपने इंटरनेट का मालिक कौन है, इंटरनेट कैसे काम करता है, इंटरनेट को किसने बनाया है, हम जो इंटरनेट के लिए पैसे देते हैं वो पैसा जाता कहाँ है। मुझे आशा है आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया होगा, अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो किर्पा कर के इसको अपने दोस्तों के साथ साझा करें, धन्यवाद ।  

 

Comments

Popular posts from this blog

Top 5 best Camera apps for Android in 2020

Top 5 best Camera apps for Android in 2020 आज कल camera का demand हद से ज़्यादा बढ़ गई है। लोग mobile phone से ज़्यादा camera पर ध्यान दे लगे है, इसीलिए smartphone company वालो ने भी हर फ़ोन में camera quality को और भी बेहतरीन  हो उसके प्रयास में लगे है। ऐसे में आपका camera का अच्छा होना जायज है। लोग अपने photo video को सबसे अच्छा दिखाने के लिए तरह तरह के फोटो editing apps का इस्तेमाल कर रहे है लेकिन उसके लिए आपको editing करना भी सीखना परता है। तो आपको ऐसे में कुछ ऐसे features वाले कैमरा चाहिए जिससे आपको एडिटिंग करना नही परे । वैसे तो आपको अपने mobile पे ही एक quality  camera मिल जाते है लेकिन लोगो को अपने photo video को कुछ ऐसे customize करना चाहते है  जिसे default camera से नही कर पाते । आपके इसी problem को दूर करने के लिए हमने  5 ऐसे features वाले Camera apps ढूंडके लाये है जिससे आपको अच्छे फ़ोटो के साथ तरह तरह के effect और features  भी देखने को मिलेंगे । तो चलिए जानते है उन apps के बारे में deteils में।  5. A Better Camera सबसे पहले जान लेते है A Better Camera apps के बारे में। ये

PUBG बैन होने के बाद कैसे खेलें? | PUBG Mobile का कोरियन वर्शन कैसे डाउनलोड और इनस्टॉल करें? | How to play PUBG after ban in India

दोस्तों आप सभी को तो पता ही है के PUBG Mobile इंडिया में बैन हो चुका है। 2 सिंतबर 2020 को भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक एवं इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी विभाग ने एक प्रेस रिलीस कर के ये जानकारी दी के भारत सरकार ने इन्फॉर्मेशन टेक्नोलोजी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत PUBG Mobile तथा 117 अन्य Apps को भारत मे बैन कर दिया है। सरकार ने बताया के इन सारे Apps से देश को खतरा है क्योंकि ये Apps भारत का डेटा चुरा सकती है। ये सरकार का कहना है लेकिन हम सभी को पता है सरकार ने इन सारे apps को बस इसलिए बैन किया है क्योंकि ये सारे चीनी apps हैं। भारत और चीन का सिमा पे तनाव बना हुआ है इसलिए इन apps को बैन कर के सरकार चीन को एक संदेश देना चाहती है और सिमा पर भारत की इस्तिथि मजबूत करना चाहती है। जबसे PUBG Mobile भारत में बैन हुआ है तभी से गेमर्स की दुनिया में हरकम्प मच गया है। PUBG खेलने वाले काफी खिलाड़ी सरकार से खासा नाराज़ हैं। यूटयूब, फेसबुक, ट्विटर जिधर देखो PUBG की ही चर्चा हो रही है। बहुत सारे लोग जानना चाहते हैं के PUBG मोबाइल बैन होने के बाद भी हम PUBG कैसे खेल सकते हैं। अगर आप भी इन्हीं में से ए

Laptop खरीदते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए ?

Laptop खरीदते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए ? एक आम आदमी के लिए एक Laptop लेना सपनो की तरह होते है क्योंकि एक आम आदमी बहत मुश्किलों का सामना करके पैसा कमाते है, ऐसे में अगर सही price में एक सही laptop न मिले तोह बहत निराशा होता है। तो एक laptop लेने से पहले आपको कुछ बातों पर ध्यान देना बहत ज़रूरी होता है ताकि आपके पैसा बर्बाद न हो । यहां पर में आपको 6 ऐसे बातें बताने वाला हु जिसे पढ़ने के बाद आपके मन मे कोई भी doubt नही रहेगा। तो क्या है वो बातें चलिए देखते है - 1. Category हर एक आदमी कोई भी चीज़ लेने से पहले ये decide करते है कि वो किस काम के लिए वो चीज़ ले रहे है क्योंकि ऐसे बहत से लोग है जो एक काम के लिए जो चीज़ ज़रूरी है उसे न लेके कोई दूसरा चीज़ खरीद कर ले आते है जिससे उसको पैसे का नुकसान और पछताबा होता है। ऐसे में आपको पहले ये decide कर लेना है कि आपको किस काम के लिए कौनसा चीज़ सही रहेगा। तो अगर आप एक laptop खरीदने का मन बना लिए है तो सबसे पहले आप ये decide कीजिये कि आपको किस category का laptop चाहिए। 3 तरह के category के बारे में मैं आपको बताता हूं- Study Gaming