Skip to main content

इंटरनेट का मालिक कौन है और इंटरनेट कैसे काम करता है ? Who is the owner of internet

आपने कभी ना कभी ये तो सोचा ही होगा जो इंटरनेट हम दिन रात इस्तेमाल करते है और जिसके लिए हम पैसे देते हैं उस इंटरनेट मालिक आखिर है कौन? इंटरनेट काम कैसे करता है ? अगर इंटरनेट का कोई मालिक है तो वो दुनिया का सब से अमीर आदमी क्यों नहीं है, क्योंकि उसका प्रॉडक्ट तो पूरी दुनिया इस्तेमाल कर रही है।

इंटरनेट क्या होता है और इंटरनेट कैसे काम करता है ?

दोस्तो हम इंटरनेट के मालिक के बारे में जाने उससे पहले हमे समझना होगा इंटरनेट आखिर है क्या और इंटरनेट काम कैसे करता है। तो चलिए थोड़ा सा बात करते हैं इंटरनेट के बारे में और जानते है इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता । 


मान लिजये आपके पास 2 कम्प्युटर है और आपने दोनों कम्प्युटर को किसी डाटा केबल से कनैक्ट कर दिया है और आप अपने एक कम्प्युटर से दूसरे कम्प्युटर का डाटा एक्सैस कर पाते हैं तो ये जो कनैक्शन बना आपके दोनों कम्प्युटर के बीच इसी कनैक्शन को कहते हैं इंटरनेट। इसमे आपका वो वाला कम्प्युटर जिसमे डाटा स्टोर है वो बन गया है सर्वर और वो कम्प्युटर जिससे आप डाटा एक्सैस कर रहे हैं वो है आपका डिवाइस। ये एक छोटा से उधारण है इंटरनेट का। अभी थोड़ा सा बड़े लेवेल पर सोचते हैं।  


मान लिजये आपका एक ऑफिस है उसमे कई सारे कोपुटर रखे हैं और सारा कम्प्युटर एक दूसरे से केबल के दुवारा कनेक्ट कर रखा है और ये सारे कम्प्युटर किसी केबल से या किसी वायर्लेस माद्धियम से आपके घर में रखे कम्प्युटर से कनेक्ट है और आप घर बैठे अपने ऑफिस में रखे किस भी कम्प्युटर का डाटा एक्सैस कर प रहे हैं तो ये भी एक पाकार का इंटरनेट है। तो अब आपको पता चल चुका है के इंटरनेट क्या होता है और इंटरनेट कैसे काम करता है, तो आईए अब जान लेते हैं इंटरनेट का मालिक कौन है ?

इंटरनेट का मालिक कौन है ?

अगर आप इस सवाल का जवाब ढूंढोगे के इंटरनेट का मालिक कौन है तो आपको दो टाइप जवाब मिलेंगे (1) कोई भी नहीं  (2) हर कोई जो इंटरनेट इस्तेमाल करता है। 


अब समझ लेते हैं इन दोनों जवाब का मतलब क्या है। जब बोला जाता है इंटरनेट का मालिक कोई भी नहीं है तो उसका ये मतलब होता है को कोई एक इंसान या कोई एक कंपनी इंटरनेट का मालिक नहीं है। इंटरनेट को बहुत सारी कोंपनियों ने और बहुत सारे लोगों ने मिल कर बनाया है। किसी एक के बस की बात नहीं है इतना बड़ा इंटरनेट बनाना। 

और जब ये कहा जाता है इंटरनेट का मालिक हर कोई है जो इंटरनेट इस्तेमाल कर रहा है तो उसका मतलब होता है कि कर वो लोग जो इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं वो इंटरनेट के किसी ना किसी हिस्से के मालिक हैं तो इस तरह से जो भी इंटरनेट इस्तेमाल करता है वो हर कोई इंटरनेट का मालिक है। उधारण के तोर पर मान लिजये आप आपने मोबाइल से इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका मोबाइल सर्वर से कनेक्ट है जिससे आप डाटा एक्सैस कर पा रहे हैं तो आपका जो मोबाइल है वो भी इंटरनेट का एक हिस्सा हो गया और इंटरनेट के उस हिस्से का मालिक आप हैं क्योकि मोबाइल आपका है। इसलिए कहा जाता है जो भी लोग इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं सब उसके मालिक हैं।

तो आब आपको समझ आ चुका है इंटरनेट का मालिक कौन है तो अब हम समझ लेते हैं इतने बड़ा इंटरनेट बना कैसे  जिसका को एक मालिक भी नहीं है और इसकी देखभाल कौन करता है ? जब ये खराब होता है तो ठीक कौन करता है ?  

इंटरनेट बना कैसे  और इंटरनेट बनाया किसने ?

मोटे तौर पर देखा जाए तो इंटरनेट को तीन तरह कि कोंपनियों ने मिल कर बनाया है।  बाकी तो हम सब ने मिल के इंटरनेट को बनाया है लिकिन जो इंटरनेट का बड़ा पार्ट है वो इन तीन तरह कि कोंपनियों ने मिल कर बनाया है।  चलिए अब जानते है इन तीनों तरह कि कोंपनियों के बारे मे एक एक कर के ।  


1) Tier 1 Internet providers: 

इन कंपनियों को इंटरनेट की रीड़ की हड्डी कहा जाता है। क्योंकि अगर ये कोंपनियाँ ना हो तो इंटरनेट का चलना मुसकिल है।  जिस तरह अगर सरीर में रीड़ की हड्डी ना हो तो सरीर ठीक से खड़ा नहीं रह सकता उसी तरह अगर Tier 1 Internet Providers ना हो तो ये इंटरनेट काम नहीं कर सकता क्योंकि इन्ही कोंपनियों ने समुंदर में मोटे मोटे केबल बिछा रखा है। ये केबल समुंदर में जाल कि तरह बिछे हुए है और यही केबल एक देश को दूसरे देश से कनेक्ट करता है जिससे आप तक कोई भी इन्फॉर्मेशन पोहुचता हैं सर्वर से या आपका कोई भी डाटा सर्वर तक जाता है।
अब आप ये जरूर जानना चाहते होगे ये Tier 1 कंपनी कौन कौन सी है और इसके नाम क्या हैं। अगर आप गूगल पर सर्च करोगे तो आपको Tier 1 कोंपनियों के नाम कि पूरी लिस्ट मिल जाएंगी लेकिन कुछ नाम मैं उधारण के तौर पर आपको बता देता हूँ। Tier 1 कोंपनियों के नाम कुछ इस परकार हैं - AT&T, CenturyLink, GTT Communications, Inc., Liberty Global, Tata Communications इत्यादी ।


2) Tier 2 Internet providers: 

ये वो कोंपनियाँ हैं जो नेशनल लेवेल पे काम करती है जैसे AIRTEL, IDEA, VODAFONE, JIO इत्यादि ।  ये कोंपनियाँ tier 1 कोंपनियों से इंटरनेट का एक्सैस खरीदती है और Tier 1 कोंपनियों को उसके लिए पैसा देती है। फिर उस इंटरनेट को आप लोगों तक अपने टावर के दुवारा वायर्लेस माद्धियम से आप तक इंटरनेट पाहुचती है और आप से बदले में पैसा लेती है। इंटरनेट मे इन कोंपनियों का यही योगदान है कि ये कोंपनियाँ पूरे देश मे टावर लगती है और वायर्लेस नेटवर्क बनती है और उसका मैंटेनेंस भी करती है।


3) Tier 3 Internet providers: 

ये वो कोंपनियाँ है जो लोकल लेवेल पे आपके इलाके मे आपको वाईफाई प्रोवाइड करती है। जैसे TIKONA, Hathway, Max इत्यादि । ये सारी वो कोंपनी है जो आपके मोहल्ले में आपको इंटरनेट और wifi प्रादन करती है और आपके इलाके मे अपना तारों का नेटवर बिछाती है । ये कोंपनियाँ Tier 2 कोंपनियों से इंटरनेट एक्सैस खरीदती है बल्क में जिससे इनको काफी सस्ता परता है इंटरनेट और ये फिर आपको थोड़े महंगे दामों आपको इंटरनेट बेचती है।

इसके बाद आते हैं हम लोग जो अपना अपना device खरीदते हैं और डाटा पैक लेते हैं और उसकी मदद से डाटा का इस्तेमाल करते हैं इंटरनेट एक्सैस करते हैं। इस तरह से इंटरनेट का पूरा चक्र चलता है। और इस तरह से आप समझ सकते हैं इंटरनेट का कोई एक मालिक नहीं है, बहुत सारी कोंपनियों ने और बहुत सारे
organisation ने मिल कर इंटरनेट बनाया है।

इंटरनेट पर किसी एक इंसान का इंफ्लुएंस नहीं है, हाँ उन कोपनाइयों का थोड़ा इंफ्लुएंस जरूर है जिनहोने
इंटरनेट के बड़े हीददे को बनाया है या उसपे पैसे लगाया है। इसके इलवा इंटरनेट पर हर देश कि सरकार का भी थोड़ा इंफ्लुएंस होता हैं क्योंकि अगर किसी भी कंपनी को किसी देश में काम करना है तो सरकार ने जो नियम बनाए हैं उनका पालन करना होता है। अगर कंपनी सरकार के बनाए नियम का पालन नहीं करेगी तो सरकार उसको पर्मिट नहीं देगी ओर उसको आपने देश में काम करने नहीं देगी तो इस तरह सरकार का भी थोड़ा इंफ्लुएंस होता है इंटरनेट पर और इसके इलवा इन सारी कोंपनियों को सरकार को TAX देना परता है अपने बिजनेस को
किसी भी देश में चलाने के लिए ।

तो ये था आज का आर्टिक्ल, इस आर्टिक्ल में जाना आपने इंटरनेट का मालिक कौन है, इंटरनेट कैसे काम करता है, इंटरनेट को किसने बनाया है, हम जो इंटरनेट के लिए पैसे देते हैं वो पैसा जाता कहाँ है। मुझे आशा है आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया होगा, अगर आपको ये आर्टिक्ल पसंद आया तो किर्पा कर के इसको अपने दोस्तों के साथ साझा करें, धन्यवाद ।  

 

Comments

Popular posts from this blog

Jio Giga Fiber के plans और पूरी जानकारी

Jio Giga Fiber के plans और पूरी जानकारी
Jio Giga fiber Reliance Jio की एक नई project है जो हाल ही में launched हुई है। ये एक Broadband सेवा है जो पूरे देश मे 2020 से शुरू होने वाली है।



Internet के दुनिया मे तहलका मचा देने वाली Reliance Jio के प्रतिष्ठाता Mukesh Ambani जी ने 5th  September 2019 को  officially launched कर दिया था  Jio के एक नए service Jio Giga fiber को और उसके anouncement हुई थी कंपनी के 42nd Anual General Meeting(AGM) में । दरअसल ये jio fiber एक Broadband connection है बाजार में मिलने वाले बाकी Broadband की तरह ही है  लेकिन इसमें मिलने वाले features दूसरे से बहत अलग है। तो क्या है jio giga fiber, क्या प्लान है उसकी, किन किन शहरों में उपलब्ध है और कैसे आप jio giga fiber को अपने घर मे लगा सकते है पूरी जानकारी आपको यहां मिलने वाली है। तो सबसे पहले ये जान लेते है कि Jio Giga Fiber actual में है क्या ?

क्या है Jio Giga Fiber ? Jio giga fiber या फिर आप के सकते है jio fiber एक optical fiber आधारित नए Braoadband सेवा है जिसे Reliance के owner Mukesh Ambani जी ने बाजार में उपल…

Laptop खरीदते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए ?

Laptop खरीदते समय किन बातों पर ध्यान देना चाहिए ?
एक आम आदमी के लिए एक Laptop लेना सपनो की तरह होते है क्योंकि एक आम आदमी बहत मुश्किलों का सामना करके पैसा कमाते है, ऐसे में अगर सही price में एक सही laptop न मिले तोह बहत निराशा होता है। तो एक laptop लेने से पहले आपको कुछ बातों पर ध्यान देना बहत ज़रूरी होता है ताकि आपके पैसा बर्बाद न हो । यहां पर में आपको 6 ऐसे बातें बताने वाला हु जिसे पढ़ने के बाद आपके मन मे कोई भी doubt नही रहेगा। तो क्या है वो बातें चलिए देखते है -
1. Category हर एक आदमी कोई भी चीज़ लेने से पहले ये decide करते है कि वो किस काम के लिए वो चीज़ ले रहे है क्योंकि ऐसे बहत से लोग है जो एक काम के लिए जो चीज़ ज़रूरी है उसे न लेके कोई दूसरा चीज़ खरीद कर ले आते है जिससे उसको पैसे का नुकसान और पछताबा होता है। ऐसे में आपको पहले ये decide कर लेना है कि आपको किस काम के लिए कौनसा चीज़ सही रहेगा। तो अगर आप एक laptop खरीदने का मन बना लिए है तो सबसे पहले आप ये decide कीजिये कि आपको किस category का laptop चाहिए।
3 तरह के category के बारे में मैं आपको बताता हूं-
StudyGamingVideo editing
अगर आप …

Top 5 Best Online dating apps in India

Top 5 Best Online dating apps in India  India में dating app अब लोकप्रिय हो रहा है और लोगों को इसी तरह के interest के साथ मिलने के लिए डेटिंग ऐप्स का उपयोग करना शुरू कर दिया है । ऐसे कई अच्छे डेटिंग ऐप हैं जहां आप same interest वाले लोगों को ढूंढ सकते हैं।


Dating करना आजकल आम बात हो गयी है  । Dating  मतलब की किसी के साथ  Relationship start करना चाहे वो offline हो या online। Offline डेटिंग से ज़्यादा आजकल ऑनलाइन डेटिंग को पसंद किया जा रहा है। Online Dating करना मतलब किसी शॉपिंग मॉल से अपने मनपसंद चीज़ खरीदने के जैसा क्योंकि इंटरनेट पे  ऐसे कई Online डेटिंग apps या websites है जिसके जरिये हज़ारो लड़का/लड़की को देखके किसी एक को पसंद किया जा सकता है इसीलिए Online Dating को लोग ज़्यादा पसंद करने लगे है।
Online Dating करने का एक और खास बात ये है कि ऐसे कई लोग है जो लड़का/लड़की के सामने बाते नही कर पाते क्योंकि वो लोग या तो शर्माते है या फिर डरते है और ऐसा बहुत सी लोग है जो लड़की के सामने कुछ बोल ही नही पाते तो उन लोगो के लिए ये Dating apps किसी बरदान से कम नही है। क्योंकि ऑनलाइन किसी को face to fa…